BlogsNews UpdatesTrending Articles
Trending

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री का बड़ा बयान, ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ दखकर कहा कुछ ऐसा , जानिये पूरी खबर

भारत के प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ गुजरात में ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का उद्घाटन किया था। जब ‘नरेंद्र मोदी’ गुजरात के मुख्यमंत्री थे, उन्होंने उस वक्त ही ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ बनाने का आदेश दिया था। 31 अक्टूबर 2018 को ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का भारत के प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ ने उद्घाटन किया। ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ भारत के पहले उप प्रधानमंत्री “सरदार वल्लभ भाई पटेल” की प्रतिमा है। ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ प्रतिमा के उद्घाटन के बाद लाखों लोग इस अति सुंदर पर्यटन का नजारा देखने और इसकी खूबसूरती महसूस करने पहुंचे। उन लाखों लोगों में से एक हमारे भारत के पूर्व प्रधानमंत्री ‘एच डी देवेगौड़ा’ भी इस प्रतिमा को देखने गुजरात पहुंचे। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री को देखकर भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री ‘नरेंद्र मोदी’ काफी खुश नजर आए। ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ प्रतिमा को देखकर सभी लोग खूब तारीफ कर रहे हैं।

लौह पुरुष की प्रतिमा हैं ” स्टैच्यू ऑफ यूनिटी”

पूर्व प्रधानमंत्री ‘एच डी देवेगौड़ा’ ने भी इस प्रतिमा की बहुत तारीफ की “सरदार वल्लभभाई पटेल” की ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ प्रतिमा 182 मीटर ऊंची है। “सरदार वल्लभ भाई पटेल” की 143 वी जयंती पर यानी कि साल 2018 में इस प्रतिमा का उद्घाटन हुआ। ‘लौह पुरुष’ कहे जाने वाले “सरदार वल्लभभाई पटेल” की यह प्रतिमा लोहे की हैं और यह प्रतिमा विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा है। इस प्रतिमा को काफी मेहनत और सावधानी से बनाया गया है । यह प्रतिमा अगले कई सालों तक ऐसी की ऐसी ही रहेगी। “सरदार वल्लभ भाई पटेल” की प्रतिमा गुजरात में नर्मदा नदी के पास सरदार सरोवर डैम से लगभग तीन किलोमीटर दूरी पर स्थित है। “सरदार वल्लभभाई पटेल” की इस प्रतिमा को ‘स्टैच्यू ऑफ़ यूनिट’ इसलिए कहा जाता है क्योंकि “सरदार वल्लभभाई पटेल” ने आजादी के बाद पांच सौ से भी ज्यादा रियासत को जोड़ कर रखा था।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close