Blogs

क्यों आवश्यक है फादर्स डे मनना, जाने आवश्यक बातें।

तू धूप में छाया बना,
तू हर मुश्किल में साया बना,
तेरी उंगली पकड़ कर बड़ी हुई,

तुझ बिन जिंदगी नहीं आसान,

पिता, तू ही मेरा है भगवान।

जून महीने में तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाया जाता है। यही वो दिन है जो पिता के लिए समर्पित होता है।

पिता वह व्यक्तित्व होता है जो अपने बच्चे से बिना किसी उम्मीद के जीवन भर उनके लिए स्वयं को समर्पित कर देता है। अपनी इच्छाओं को मारकर अपने बच्चों की इच्छा की पूर्ति में अपना जी-जान लगा देता है।

फ़ादर्स डे मनाये जाने का एक अपना ही इतिहास है, इस पर भी कई प्रकार की धारणाएं हैं। आम धारणा यह है कि पश्चिम वर्जिनिया के फेयरमोंट में 1908 में 5 जुलाई को सबसे पहले इस दिन को मनाया गया था। एक दूसरी धारणा यह है कि 6 दिसम्बर 1907 को मोनोंगोह, पश्चिम वर्जीनिया में एक खान दुर्घटना में मारे गए 210 पिताओं के सम्मान में इस विशेष दिन का आयोजन श्रीमती ग्रेस गोल्डेन क्लेटन ने किया था। परन्तु आवश्यक बात यह है कि हमें फादर्स डे मनाने की आवश्यकता क्यों पड़ी। क्या हम साल का हर दिन फादर्स डे की तरह नहीं मना सकते? क्या पिता के सम्मान के लिए हमे किसी खास दिन की आवश्यकता है? आज बदलते वक्त के साथ हर इंसान इतना व्यस्त हो गया है कि उसे अपने माँ बाप तक के लिए फुर्सत नहीं है वो माँ बाप जिन्होंने ने अपने जीवन के हर क्षण में अपने बच्चे के बारे में सोचा, अपने बच्चे के लिए अपने सारे सपने को छोड़ दिया ?

admin

Admin of The Hind Tech

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close