Delhi VidhansabhaNews Updates

जनता के हाथ में राजनीतिक दलों की किस्मत, चुनाव में मतदान कर दिखाएं अपना अधिकार

दिल्ली में किस की सरकार बनेगी यह फैसला पूरी तरह जनता के हाथ में हैं। हर राजनीतिक दल की किस्मत अब दिल्ली की जनता के हाथ में हैं। चुनाव आयोग ने सोमवार दोपहर को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के दिल्ली विधानसभा चुनाव का ऐलान कर दिया। इसी के साथ देश की राजधानी दिल्ली में आचार संहिता लागू हो गई है। दिल्ली में 8 फरवरी को सभी 70 विधानसभा सीटों पर वोट डाले जाएंगे और 11 फरवरी को चुनाव नतीजों का ऐलान होगा। राजधानी में सत्ताधारी पार्टी आम आदमी पार्टी का मुकाबला एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस से हैं।

सभी राजनीतिक पार्टी के अपने-अपने वादें और नारे हैं तैयार

दिल्ली में कुल 70 विधानसभाएं हैं, अभी की विधानसभा का कार्यकाल 22 फरवरी, 2020 को खत्म हो रहा है। चुनाव को लेकर राज्य चुनाव आयोग, पुलिस के साथ बैठक की गई थी। वोटरों को पोलिंग बूथ पर आने के लिए पिक अप-ड्रॉप मिलेगा और इसकी जानकारी चुनाव आयोग के वेबसाइट पर डाल दी जाएगी और एक नंबर भी जारी किया जाएगा। देश की राजधानी दिल्ली में विधानसभा चुनाव हमेशा ही दिलचस्प होता है। यहां से निकले जनादेश का संदेश पूरे देश में जाता है। दिल्ली में करीब डेढ़ करोड़ वोटर हैं जो राज्य सरकार की किस्मत का फैसला करेंगे। भारतीय जनता पार्टी  2019 में बीजेपी एक बार फिर लोकसभा चुनाव जीतकर आई है, ऐसे में बीजेपी को उम्मीद है कि कुछ पीएम मोदी का नाम काम आएगा। हाल ही में अनाधिकृत कॉलोनियों को मोदी सरकार ने पक्का किया है, जिसे बीजेपी भुनाना चाहेगी। 2019 के चुनाव में बीजेपी ने सातों लोकसभा सीटें जीती थीं। हालांकि, मुख्यमंत्री पद के लिए कोई उम्मीदवार ना होना बीजेपी के लिए हानिकारक हो सकता है। कांग्रेस कांग्रेस पार्टी ने 2015 में खाता भी नहीं खोला था, ऐसे में इस चुनाव में उसकी कोशिश कुछ सीटें जीतनी की तो अवश्य ही होंगी। इसके अलावा पार्टी ने कुछ जनता को आकर्षित करने के वादे भी किए हैं, जिसके जरिए वह दिल्ली में खाता खोलने की उम्मीद लगाए हुए है। आम आदमी पार्टी  सत्ताधारी दल इस बार अपने पांच साल के काम पर आगे बढ़ रहा है। जिसमें मुफ्त बिजली-पानी, स्कूल, मोहल्ला क्लीनिक को फ्रंट पर रखकर एक बार फिर सरकार बनाने का दावा ठोका जा रहा है।
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close